Edit Content

Credible History is an endeavour to preserve authentic history as gleaned through the lens of established, respected historians who have spent their lives researching it via reliable sources. It aims to counter the propaganda being spread through a large section of mainstream media and social media platforms, and provide easy access to established historical resources

Editorial Address : 123 Kirpal Apartment, 44 IP Extension, Patparganj, Delhi -110092

N/A

Saturday July 20, 2024
महात्मा गांधी और सरदार पटेल

जब नागपुर झंडा सत्याग्रह का नेतृत्व किया था सरदार

   1919 में रॉलेट एक्ट के विरोध में, पूरे देश में व्याप्त असंतोष का परिणाम यह हुआ कि भारत की जनता में राष्ट्रीय एकता की भावना का

बालू पालवणकर

डॉ.अंबेडकर के खिलाफ चुनाव लड़े वाले “बालू

17 साल का एक लड़का 4 रुपये महीने की तनख्वाह पर

Places of Worship Targeted: A Question Mark

Over the past decade, governments led by the Bharatiya Janata Party

मौलाना अबुल कलाम आजाद

जब खिलाफत आंदोलन में  मौलाना आजाद हुए

  भारतीय स्वतंत्रता-संग्राम के देशभक्तों और वीरों की पंक्ति में मौलाना

जवाहर लाल नेहरू और भारतीय किसान

रायबरेली किसान आंदोलन के जननायक पंडित नेहरू

  भारत  कृषक देश है। भारत की 75 प्रतिशत जनसंख्या कृषि

प्रेमचंद

अप्रकाशित रही थी प्रेमचंद की पहली रचना

प्रेमचंद  के साहित्यिक जीवन का आरंभ  1901 से हो चुका था

ब्रिगेडियर-मुहम्मद-उस्मान

नौशेरा का शेर ब्रिगेडियर मोहम्मद उस्मान

  भारत के बहादुर नौजवानों में ब्रिगेडियर उस्मान का स्थान बहुत

महात्मा गांधी

जलियांवाला नरसंहार से विचलित थे गांधी जी

महात्मा गांधी अप्रैल 1919 से पहले तक अंग्रेज सल्तनत के वफादार

मदिर-मस्जिद

धर्मस्थलों की सुरक्षा के लिए क़ानूनी धर्मयुद्ध

  भारत में जारी आम चुनाव के दरमियान अल्पसंख्यकों के अधिकारों

Social History

Places of Worship Targeted: A Question Mark on Institutions

Over the past decade, governments led by the Bharatiya Janata Party (BJP) have relentlessly targeted the religious freedom of minority

महात्मा गांधी

जलियांवाला नरसंहार से विचलित थे गांधी जी

महात्मा गांधी अप्रैल 1919 से पहले तक अंग्रेज सल्तनत के वफादार के तौर पर जाने जाते थे। लेकिन जलियांवाला बाग

मदिर-मस्जिद

धर्मस्थलों की सुरक्षा के लिए क़ानूनी धर्मयुद्ध

  भारत में जारी आम चुनाव के दरमियान अल्पसंख्यकों के अधिकारों और उनके धार्मिक स्थलों की सुरक्षा एक बड़ा सवाल

Recent post

Book Discussion/ Review

Regional History

भगत सिंह और बटुकेश्वर दत्त

आजादी के दीवाने बटुकेश्वर दत्त

  भारतीय क्रांतिकारी आंदोलन में जो देशभक्त शहीद हुए उन्हें तो इतिहास ने धरोहर की तरह संभाल लिया लेकिन जो जीवित रहे और अपने आदर्शों

मौलाना अबुल कलाम आजाद

जब खिलाफत आंदोलन में  मौलाना आजाद हुए गिरफ्तार

  भारतीय स्वतंत्रता-संग्राम के देशभक्तों और वीरों की पंक्ति में मौलाना अबुल कलाम आजाद का एक विशिष्ट स्थान है। मौलाना आजाद राष्ट्रवादी मुसलमानों में सबसे